सम्पूर्ण समाधान दिवस में पत्रावली गायब होने का मामला उठाया

0
108
Advertisement
Advertisement

वाराणसी/संसद वाणी। तहसील राजातालाब में संपूर्ण समाधान दिवस पर विभिन्न गांव से सैकड़ों लोग उपस्थित होकर अपनी समस्याएं प्रस्तुत की। जफराबाद के जितेंद्र पांडेय ने उप जिलाधिकारी के कार्यालय से पत्रावली गायब होने का मुद्दा उठाया। जितेंद्र पांडेय का कहना था कि 12 जनवरी को पत्रावली आदेश के लिए सुरक्षित रखी गई थी।पर उस पत्रावली में आज तक ना तो कोई आदेश आया और ना ही पत्रावली मिल रही है।उन्होंने उप जिलाधिकारी से पत्रावली की मांग की।

विपिन कुमार ने शिकायत की कि वे जनपद के शहर के निवासी हैं और जगतपुर में भूमि क्रय किए हैं।पिछले दिनों उस भूमि को पैमाइश को लेकर उन्होंने तहसील परिसर में उप जिलाधिकारी को प्रार्थना पत्र देने के बाद परिसर के ही दूसरे कार्यालय में जा रहे थे कि कुछ लोगों ने वही उनसे हाथापाई की और जान से मारने की धमकी दी। पता है कि सारा मामला सीसीटीवी में रिकॉर्ड हो गया है।

मिल्कीपुर पुरुषोत्तमपुर के ग्राम प्रधान अरविंद पाल ने गांव की नाली और चक मार्ग की पैमाइश करने की मांग की है। उनका कहना था कि कुछ लोग अवरोध उत्पन्न कर रहे हैं और रास्ता नहीं बनने दे रहे हैं।अरविंद पाल का कहना था कि भूमि की पैमाइश हो जाने से रास्ता बन सकेगा और मनरेगा श्रमिकों को काम भी मिल पाएगा।

जक्खिनी के पन्ना लाल बिंद ने गांव के ही बबलू पर सरकारी हैंडपंप को अपने बाउंड्री के अंदर बंद करने का आरोप लगाया है। उनका कहना था कि ऐसा करने से आसपास के लोग पानी नहीं प्राप्त कर पा रहे हैं। ऊपरवार गांव के श्याम सुंदर ने कहा कि उन्होंने उप जिलाधिकारी के आदेश से उनकी भूमि का सीमांकन हुआ था।जिसे गांव के ही राधेश्याम मदन लाल आदि ने विरोध करते हुए गड़े पत्थर को उखाड़ कर फेंक दिया।

गौरा गांव की जय सिंह ने अपनी भूमि के सीमांकन किये जाने की मांग की। उनका कहना था कि कुछ लोग उनकी भूमि पर निर्माण नहीं होने दे रहे हैं,उन्हें परेशानी हो रही है। संपूर्ण समाधान दिवस में राजातालाब के उप जिलाधिकारी और सक्षम अधिकारी के साथ कई विभागों के कर्मचारी और अधिकारी उपस्थित रहे।

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here