9.1 C
Munich
Sunday, April 2, 2023

हरिश्चंद्र घाट पर भगवान शिव का श्रृंगार एवं सम्मान समारोह का आयोजन सम्पन्न

Must read

वाराणसी/संसद वाणी

माघ पूर्णिमा महोत्सव का आयोजन हरिश्चंद्र घाट पर हुआ। हरिश्चंद्र घाट स्थित विद्युत शव दाह गृह के पास स्थित भगवान शिव का सुन्दर श्रृंगार कर महाआरती की गयी तत्पश्चात श्री बाबा श्मशाननाथ सत्संग मंडल, केन्द्रीय देव दीपावली महासमिति एवं आरती महासमिति की ओर से गंगा गोष्ठी एवं सम्मान समारोह आयोजित किया गया। जिसमें मुख्य वक्ता के रूप में बोलते हुए केंद्रीय देव दीपावली महासमिति के अध्यक्ष आचार्य वागीश दत्त मिश्र ने कहा की श्मशान सम्मान से बडा कोई सम्मान नही है यह सम्मान सत्य का, सच्चाई का प्रतीक है। राम नाम सत्य है का जहां नारा लगाया जाता है उस स्थान पर सम्मान होना अपने आप में बहुत ही बड़ा सम्मान है आज सम्मान का कार्यक्रम कर गंगा के लिए गंगा के घाटों के लिए एवं काशी के कुण्डों और तालाबों पर काम करने वाले लोगों को सम्मानित करते जो आनंद का अनुभव हो रहा है वह अपने आप में अद्भुत है । काशी इसका एक नाम महाश्मशान भी है श्मशान में सम्मान अपने आप में अनूठा है अद्भुत है काशी के गंगा घाटों पर काम करने वाले ब्राह्मण- नाई -महापात्र- धोबी- निषाद-डोम- मल्लाह -किसान आदि जो भी गंगा के द्वारा पालित-पोषित होते हैं वह सभी गंगा के पुत्र हैं गंगा जिनका जीवन यापन करती है चाहे वो किसान हो गंगा के कारण अपने कृषि के द्वारा अन्न उपजाते हैं वह सभी गंगा के पुत्र है। गंगा की सेवा करने वाले जो भी भाई बंधु हैं उन सभी को अलग-अलग जातियों की जगह गंगापुत्र कहना ज्यादा श्रेष्ठकर होगा क्योंकि गंगा अपने पुत्रों में चाहे वह किसी भी जाति का हो भेद नहीं करती तो फिर गंगा के पुत्रों में भेद दृष्टि का होना ठीक नहीं है। “गंग सकल मुद मंगल मूला” गंगा सभी का मंगल करती है गंगा सबको मंगल देनी है सबके लिए मोक्षदायिनी है। गंगा मैया की सेवा करने वाले सभी गंगा पुत्रों को सादर नमन है अभिनंदन है वंदन है देव दीपावली के अवसर पर अपनी जान न्योछावर करने वाले इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के वरिष्ठ पत्रकार स्वर्गीय नरेश रूपानी का जीवन बड़ा ही आदर्श जीवन था देव दीपावली के अवसर पर समाचार सम्पादन करते हुए उन्होंने अपने प्राण न्योछावर कर दिया ।हम नरेश रूपानी जी की स्मृति में गंगा सेवा सम्मान प्रदान कर रहे हैं इस वर्ष से पुरस्कार की शुरुआत उनके पुत्र को दे करके हो रही है । प्रत्येक वर्ष सम्मान इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के क्षेत्र में कार्य करने वाले किसी विशिष्ट विभूति को दिया जाएगा, साथ ही गंगा गौरव पुरस्कार हिन्दुस्तान अखबार के वरिष्ठ पत्रकार अरविंद मिश्र को काशी एवं गंगा के संदर्भ में एक विशिष्ट एवं गहरी सोच के अद्भुत अंदाज के आधार पर रिपोर्टिंग करने के लिए, काशी के गंगा घाटो की मूलभूत समस्या, गंगा के घाट खोखले हो रहे हैं वह पोपले हो रहे हैं को प्रमुखता से अपने समाचार पत्र में स्थान दिए जाने के कारण हम अरविंद मिश्र का सम्मान कर रहे हैं साथ ही देव दीपावली के अवसर पर विभिन्न गंगा घाटों पर समसामयिक एवं आकर्षक रंगोली का निर्माण कर आए हुए जनमानस के बीच में रंगोली के माध्यम से विशेष सूचनाओं का संप्रेषण, माँ गंगा के प्रति कर्तव्य के निमित्त जन जागरण करने के लिए समसामयिक मुद्दों पर ध्यान आकर्षित करने के लिए बबुआ पांडे घाट की देव दीपावली के बाली कनौजिया को प्रथम स्थान, प्रभु घाट पर कोमल गुप्ता सेवेन डेज फाउंडेशन । तृतीय स्थान राम घाट पर श्री आशीष यादव जी को प्रदान कर रहे हैं। अब से हर वर्ष विशेष पत्रकारिता एवं इलेक्ट्रॉनिक मीडिया तथा विशेष रंगोली के क्षेत्र में भी पुरस्कार दिए जाएंगे।


कार्यक्रम में प्रमुख रूप से गुप्तेश्वर चौधरी, राजीव कनौजिया, राजू कन्नौजिया एवं मीडिया प्रभारी रमन कुमार श्रीवास्तव आदि द्वारा विश्व प्रसिद्ध देव दीपावली कार्यक्रम में आकर्षक डेकोरेशन करने के निमित्त सम्मानित किया गया।

- Advertisement -

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest article