3.5 C
Munich
Monday, January 30, 2023

आयुष्मान भारत योजना में दुर्गाकुंड सीएचसी निभा रहा अहम भूमिका

Must read

चार साल में योजना के तहत 232 आयुष्मान लाभार्थियों का हुआ इलाज

वाराणसी/संसद वाणी

जवाहर नगर निवासी अर्चना (37 वर्ष) को बच्चेदानी में गांठ होने से उन्हें काफी दिनों से दर्द और माहवारी के बाद रक्तस्राव की समस्या हो रही थी । डॉक्टर के परामर्श के बाद उन्होंने ऑपरेशन की सलाह दी । इसके उन्होंने निजी चिकित्सालय में संपर्क किया लेकिन वहां से उनको प्रथम संदर्भन इकाई (एफ़आरयू) दुर्गाकुंड सीएचसी रेफर कर दिया गया । गुरुवार को भर्ती होकर उनका अगले दिन सफलतापूर्वक इलाज हुआ । वहीं छित्तूपुर निवासी कविता (29 वर्ष) का उच्च जोखिम गर्भावस्था (एचआरपी) और अन्य चिकित्सीय जटिलता होने के कारण सफलतापूर्वक सिजेरियन प्रसव किया गया । इस दौरान मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ संदीप चौधरी, नोडल अधिकारी डॉ राकेश सिंह, अधीक्षक डॉ सारिका राय, डीआईएसएम नवेन्द्र सिंह, डीपीसी डॉ पूजा जयसवाल व आयुष्मान मित्र शिवांगी सिंह और अखिलेश मौजूद रहे । अर्चना और कविता तो बानगी भर हैं । ऐसे कई मामले हैं जो आयुष्मान भारत योजना से लाभान्वित हो रहे हैं।
मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने बताया कि गरीब व कमजोर वर्ग के लिए आयुष्मान भारत – प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना (पीएमजेएवाई) वरदान साबित हो रही है । जनपद की सभी सरकारी चिकित्सा इकाई योजना के अंतर्गत लाभार्थियों के पांच लाख रुपये तक के इलाज में सुविधा मिल रही है । इसमें नगरीय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र (सीएचसी) दुर्गाकुंड भी अहम भूमिका निभा रहा है । सीएचसी दुर्गाकुंड पर योजना के तहत वर्ष 2019 से अब तक सर्वाधिक 232 लाभार्थियों का सफलतापूर्वक इलाज किया गया है ।
सीएमओ डॉ चौधरी ने बताया कि आयुष्मान भारत योजना से आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लाभार्थियों का आयुष्मान कार्ड की मदद से नि:शुल्क इलाज की सुविधा प्रदान की जा रही है। योजना के चार वर्ष पूरे हो चुके हैं। इसके सापेक्ष अब तक जिले में चार लाख से अधिक लाभार्थियों के आयुष्मान कार्ड बनाए जा चुके हैं | एक लाख से अधिक लाभार्थियों का विभिन्न बीमारियों में निःशुल्क इलाज कराया जा चुका है | यह योजना गरीबों के वरदान साबित हो रही है ।
1670 बीमारियों का नि:शुल्क इलाज : आयुष्मान भारत योजना में करीब 1670 बीमारियों का इलाज किया जाता है जिनमें कैंसर, हृदय रोग, हड्डी रोग, सभी प्रकार की सर्जरी, न्यूरो आदि से संबंधित बीमारियों के इलाज की सुविधा है । प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना तथा मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना का जिन्हें पत्र मिला है । अंत्योदय कार्डधारक व श्रम कार्डधारक (अक्टूबर 2019 से अक्टूबर 2020 के बीच बना कार्ड) योजना का लाभ उठा सकते हैं । वह पत्र के साथ राशनकार्ड और आधार कार्ड लेकर नजदीकी आयुष्मान मित्र या जनसेवा केंद्र के विलेज लेवल इन्टरप्रीनियर (वीएलई), आशा कार्यकर्ता व पंचायत सहायक से सम्पर्क कर अपना आयुष्मान कार्ड बनवा सकते हैं ।
एक नजर में योजना

  • कुल लाभार्थी परिवार – 3,07,226
  • आयुष्मान कार्ड लाभार्थी – 4,60,000
  • अंत्योदय कार्डधारक लाभार्थी – 1,77,000
  • इनके बने आयुष्मान कार्ड – 61,883
  • श्रम कार्ड धारक लाभार्थी – 1,09,000
  • इनके बने आयुष्मान कार्ड – 12,637
  • अब तक हुये इलाज – 1,31,681
  • भुगतान – 161 करोड़ रुपये

- Advertisement -

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest article