0.8 C
Munich
Saturday, December 3, 2022

कमीश्नरी कार्यालय की कीमती जमीन ठीकेदार को देने का होगा विरोध, कोर्ट में दी जाएगी चुनौती-कांग्रेस

Must read

Advertisement
Advertisement

वाराणसी/चौबेपुर/संसद वाणी

संवाददाता:- विश्वनाथ प्रताप सिंह

मण्डलीय कार्यालय के लिए कमीश्नरी कम्पाउन्ड की कीमती जमीन ठीकेदार को हस्तांतरित करने के भाजपा सरकार के निर्णय पर उतर प्रदेश कांग्रेस कमेटी विधि विभाग के प्रदेश उपाध्यक्ष अशोक कुमार सिंह एडवोकेट ने आपत्ति जताई है।चौबेपुर स्थित कांग्रेस जनसंपर्क कार्यालय में मीडिया से बातचीत में उन्होंने कहाकि उत्तर प्रदेश की सबसे कीमती जमीन को ठीकेदार को हस्तांतरित किया जाना अत्यंत दुखद है। यह जायज नहीं है। उन्होंने कहाकि न्यायालय की जगह होटल माल जैसे व्यवसायिक प्रतिष्ठान का क्या मतलब है? कमीश्नर कम्पाउन्ड के लिए जमीन अधिग्रहण करते समय तत्कालीन सरकार की जो मंशा थी उसके विरुद्ध यह आदेश निर्गत किया गया है।प्रदेश उपाध्यक्ष ने कहा कि भाजपा सरकार अदूरदर्शी है। उसे भविष्य की कुछ भी चिंता नहीं है। यदि किसी सरकार द्वारा भविष्य में पूर्वांचल राज्य का गठन किया गया तो उस समय अनेकानेक नवसृजित न्यायालयों के लिए जमीन की आवश्यकता पड़ेगी तब क्या होगा।अशोक कुमार ने कहा कि विकास के नाम पर मण्डलीय कार्यालय के निर्माण में भाजपा सरकार का विकास तब कहा जायेगा जब सरकार खुद के राजस्व से बनवाए। वर्ना घर की खेत बेच कर अट्टालिका बनवाते व लग्जरी गाड़ियों से चलने वालें हजारों लोग दिखाई पड़ते हैं जिसे भाजपा विकास बता रही है। यह निर्णय बिना दूरगामी सोच के और मनमाने ढंग से लिया गया है। यदि भाजपा सरकार अपना तालीबानी यह निर्णय वापस नहीं लेती है तो इसका विरोध सड़कों पर दिखाई देगा। सरकार के इस निर्णय को उच्च न्यायालय में चुनौती दी जाएगी।

Advertisement
- Advertisement -

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest article