3.5 C
Munich
Monday, January 30, 2023

खुले आसमान के नीचे जीवन यापन करने को मजबूर बासफोड़ धैकार परिवार

Must read

पचास वर्षों से सड़क के किनारे व तालाब के तट पर रह रहे बेसहारा परिवारों को नही मिल सका सरकारी आवास

पूर्व राज्यमंत्री व ब्लाक प्रमुख आराजी लाइन सहित पास के हाईवे पर सेवापुरी विद्यायक का है पार्टी कार्यालय फिर भी नही दिया कोई बेसहारो पर ध्यान

रोहनिया/संसद वाणी

आराजी लाइन विकास खंड क्षेत्र के स्टेशन रोड राजातालाब सड़क के किनारे व तालाब के तट पर बासफोड़ (धैकार)परिवार पचास वर्षों से खुले आसमान के नीचे चिलचिलाती धूप हो या बरसात का मौसम सभी में रहकर जीवन यापन करने को मजबूर है।खुले आसमान के नीचे रहने वाले दुलारे बासफोड़ सहित तीस परिवार के लोगो ने जिला प्रशासन सहित तहसील प्रशासन के साथ साथ बीडीओ आराजी लाइन,सीएम योगी आदित्यनाथ, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से आवास बनाये जाने की मांग की है।ज्ञात हो कि सड़क के किनारे रह रहे

गुड्डी,सविता,प्रेमा,रेखा,रीता,कुशमा,राजू,श्रवण,किशोरी,रमेश,विनोद,कल्लु,बबलू,संजय,महेंद्र,रामअधार,लक्ष्मण रामबाबू का परिवार चिलचिलाती धूप हो या फिर कडकडाती ठंड और बारिश हो यह परिवार खुले आसमान के नीचे रहने को विवश और मजबूर है।हालात यह हैं कि गर्मी और चिलचिलाती धूप के चलते खाना भी नहीं बना पाती है,हालांकि बिना छत के नीचे रहने वाली महिला व पुरूष चाहते हैं कि सभी लोगों की तरह उनका भी आवास पास हो जाये,इसके लिए उन्होंने जिला प्रशासन सहित अन्य से मदद की गुहार लगाई है।ज्ञात हो कि सभी परिवार कोई आजमगढ़ है तो कोई बलिया या कोई मऊ के सभी परिवार के लोग अपने पुस्तैनी लोगो के साथ बीते पचास वर्ष से राजातालाब स्टेशन रोड पर रह रहे है।यही नही राजातालाब में पूर्व राज्यमंत्री सुरेंद्र सिंह पटेल व ब्लाक प्रमुख आराजी लाइन नगीना सिंह पटेल सहित पास के हाईवे पर सेवापुरी विद्यायक नील रत्न पटेल नीलू का कार्यालय भी है लेकिन किसी का भी ध्यान इस तरफ नही गया कि बेसहारो का सहारा कोई बन सके और सरकार शासन से छत दिलवा सके।

- Advertisement -

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest article