शिक्षा क्रांति ही नहीं, शिक्षक क्रांति हो

शिक्षक दिवस- 5 सितम्बर 2021 पर विशेष गुरु-शिष्य परंपरा भारत की संस्कृति का एक अहम और पवित्र हिस्सा है जिसके कई स्वर्णिम उदाहरण इतिहास में दर्ज हैं। शिक्षक उस माली के समान है, जो एक बगीचे को अलग अलग रूप-रंग के फूलों से सजाता है। जो छात्रों को कांटों पर भी मुस्कुराकर चलने के लिए …

शिक्षा क्रांति ही नहीं, शिक्षक क्रांति हो Read More »