August 12, 2022

रविवार को लगेगा मेगा कोविड वैक्सीनेशन कैम्प

Advertisement
Advertisement

सभी को लगेगी निःशुल्क एहतियाती डोज, बनेगा रिकॉर्ड

जिले के 65 कोविड टीकाकरण केंद्रों पर आयोजित होंगे कैम्प

दूसरी डोज के छह माह पूरा करने वाले लगवा सकते हैं टीका

वाराणसी/संसद वाणी

आजादी के अमृत महोत्सव के अंतर्गत कोविड टीके की मुफ्त एहतियाती (प्रीकॉशन) डोज को लेकर 15 जुलाई से स्वास्थ्य विभाग द्वारा 30 सितंबर तक विशेष अभियान चलाया जा रहा है। इसके तहत 18 वर्ष से अधिक उम्र के सभी लोगों को सरकारी कोविड टीकाकरण केंद्रों पर कोविड टीके की एहतियाती डोज मुफ्त लगाई जा रही है। अब इस अभियान को और गति देने के लिए सात अगस्त (रविवार) को एहतियाती डोज के लिए मेगा कैंप लगाया जाएगा।
मुख्य चिकित्सा अधिकारी (सीएमओ) डॉ संदीप चौधरी ने बताया कि 15 जुलाई से 75 दिनों के लिए प्रदेश में 18 साल से अधिक उम्र के नागरिकों को नि:शुल्क प्रीकॉशन डोज लगाया जा रहा है। इसी क्रम में शासन के निर्देश पर सात अगस्त को जनपद के जिला अस्पताल, हेल्थ एंड वैलनेस सेंटर, सामुदायिक एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र सहित 65 कोविड टीकाकरण केंद्रों पर मेगा कैंप आयोजित होगा। इसमें बड़ी संख्या में 18 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों को कोविड टीके की एहतियाती डोज लगाई जाएगी। इस संदेश को सोशल मीडिया, स्कूल, कॉलेज व्हाट्सएप ग्रुप, फेसबुक, ट्विटर आदि के जरिये ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंचाया जाए।
जिला प्रतिरक्षण अधिकारी (डीआईओ) डॉ निकुंज कुमार वर्मा ने बताया कि कोविड संक्रमण से बचाव के लिए एहतियाती डोज लगवाना आवश्यक है। जिन्हें दूसरी डोज़ लगे छह माह पूरे हो चुके हैं वह इस मेगा कैंप का लाभ उठाकर एहतियाती डोज़ जरूर लगवा लें। उन्होंने बताया कि मेगा कैंप के लिए इंटीग्रेटेड कोविड कमांड कंट्रोल सेंटर के माध्यम से फोन कॉल एवं निगरानी समिति, फ्रंट लाइन वर्कर, आशा और आंगनवाड़ी कार्यकर्ता दवारा व्यक्तिगत फॉलोअप किया जाएगा। एहतियाती डोज लगवाने के लिए वॉक इन अप्वॉइंटमेंट यानि ऑफलाइन की सुविधा दी गई है। इसके साथ ही उन्होने कहा कि कोविड अभी पूरी तरह से खत्म नहीं हुआ है तो कोविड एप्रोप्रिएट बिहेवियर (कैब), दो गज दूरी व भीड़ न होने पाए, इसका विशेष रूप से ख्याल रखा जाएगा।
वरिष्ठ चिकित्सा अधिकारी एवं टीकाकरण प्रभारी डॉ एके पांडे ने बताया कि मेगा वैक्सीनेशन कैंप के लिए माइक्रोप्लान तैयार किया गया है। इसके लिए टीम गठित करने के साथ लोगों के साथ बैठक कर विस्तृत रणनीति तैयार की गयी है। सेशन साइट के अनुसार वैक्सीनेटर तथा डाटा एंट्री ऑपरेटर की टीम गठित करने की व्यवस्था है। इसके साथ ही सफल रणनीति के तहत वैक्सीनेशन का पूरा खाका तैयार किया गया है जिससे लक्ष्य पूरा करने में आसानी हो सके।

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Previous post जनपदवासियों के लिए वरदान साबित हो रहा ‘सम्पूर्णा क्लिनिक’
Next post खाद्य तेलों में मिलावट रोकने एवं एगमार्क लाइसेंस सुनिश्चित कराने हेतु खाद्य विभाग की छापेमारी