August 12, 2022

नौ माह से पाँच वर्ष तक बच्चों को बनाएँगे सुपोषित।

Advertisement
Advertisement

तीन अगस्त से चलेगा ‘बाल स्वास्थ्य पोषण माह’

जनपद के 3.39 लाख बच्चों को पिलाई जाएगी विटामिन ए

बढ़ेगी रोग – प्रतिरोधक क्षमता, शिशु मृत्यु दर में भी आएगी कमी

वाराणसी/संसद वाणी

जिले में नौ माह से पाँच वर्ष तक के बच्चों को विटामिन-ए की खुराक देने के लिए तीन अगस्त से ‘विटामिन ए संपूरण’ कार्यक्रम के रूप में ‘बाल स्वास्थ्य पोषण माह’ चलाया जाएगा। इस अभियान में जनपद में नौ माह से पाँच वर्ष तक के तीन लाख से अधिक बच्चों को विटामिन ए की खुराक और आयरन सीरप पिलाया जाएगा।
मुख्य चिकित्सा अधिकारी (सीएमओ) डॉ संदीप चौधरी ने बताया कि शासन के निर्देशानुसार बाल स्वास्थ्य पोषण माह साल में दो बार चलाया जाता है। अभियान का पहला चरण अगस्त में चलाया जा रहा है। इसमें नौ माह से पाँच साल तक के बच्चों को आयरन व विटामिन ए के साथ कई तरह की बीमारियों से बचाने के लिए इस अभियान के तहत विटामिन –ए व आयरन सीरप से लाभान्वित किया जाएगा। आयरन की कमी दूर होगी। रतौंधी से सुरक्षा मिलेगी। शिशु मृत्यु दर में भी कमी आएगी। अभियान में बाल विकास सेवा एवं पुष्टाहार (आईसीडीएस) विभाग से भी सहयोग लिया जाएगा। कुपोषित बच्चों को चिन्हित कर चिकित्सीय सुविधा एवं परामर्श प्रदान किया जाएगा। अभियान के सफलतापूर्वक संचालन के लिए स्वास्थ्य व आईसीडीएस विभाग के कर्मचारियों को प्रशिक्षण दिया जा रहा है जिससे वह ग्राम स्वास्थ्य स्वच्छता एवं पोषण दिवस (वीएचएसएनडी) व शहरी स्वास्थ्य स्वच्छता एवं पोषण दिवस (यूएचएसएनडी) सत्रों में नौ माह से पाँच वर्ष तक के बच्चों को निर्धारित मात्रा में विटामिन ए की खुराक पिला सकें और उसका सही ढंग से अनुसरण कर सकें ।
सीएमओ ने कहा कि कोविड अभी पूरी तरह से खत्म नहीं हुआ है तो इसको देखते हुये हर बच्चे के लिए अलग-अलग चम्मचों से ही विटामिन – ए का सेवन कराएं। इसके साथ ही सेशन साईट पर हाथ धोने के लिए एक कॉर्नर स्थापित करें। सेशन साईट पर दो गज दूरी व भीड़ न होने पाए, इसका विशेष रूप से ख्याल रखें।
नोडल अधिकारी और जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ निकुंज कुमार वर्मा ने बताया कि शासन के निर्देशानुसार जिले में बाल स्वास्थ्य पोषण माह की पूरी तैयारी कर ली गई है। अभियान के दौरान नौ माह से पाँच वर्ष तक के करीब 3.39 लाख बच्चों को विटामिन ए की खुराक पिलाई जाएगी। सभी स्वास्थ्य केन्द्रों पर पर्याप्त मात्रा में विटामिन ए पर्याप्त मात्रा में भेज दी गई है। अभियान के अंतर्गत सात माह से पाँच वर्ष तक के बच्चों को आयरन सीरप पिलाना, बच्चों का वजन लेना, एक घंटे के अंदर और छह माह तक सिर्फ स्तनपान को लेकर जन जागरूकता, गर्भवती को आयोडीन युक्त की नमक के सेवन के प्रति जागरूक करना है। बच्चों के नियमित टीकाकरण पर भी ज़ोर दिया जाएगा। कोविड-19 से बचाव एवं रोकथाम के नियमों का आवश्यक रूप से पालन कराया जाएगा।

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Previous post राष्ट्रीय समता पार्टी के वाराणसी मंडल का महासचिव नियुक्त किये गए धर्मराज पटेल।
Next post गंगा में नहाते समय दो युवक डूब गए।