August 9, 2022

दो सप्ताह से पेयजल आपूर्ति बाधित मचा हाहाकार

Advertisement
Advertisement

पाइपलाइन लीकेज व बिजली की खराबी से बढ़ी परेशानी

रेणुकूट/संसद वाणी

मुर्धवा और रेणुकूट को पानी आपूर्ति करने के लिए निहाईपाथर में लगे पेयजल परियोजना से पिछले 15 दिनों से पेयजल आपूर्ति बाधित है जिससे परिक्षेत्र में निवास करने वाले हजारों लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। जिनके घरों में समर्सिबल पंप या हैंडपंप लगे हुए हैं उनका तो काम चल जा रहा है लेकिन जो लोग परियोजना के नलों पर निर्भर हैं। उन्हें पेयजल के लिए कठिनाई का सामना करना पड़ रहा है। आपूर्ति ठप होने से रहवासी आधा किलोमीटर तक की दूरी तय कर पानी ला रहे हैं। इलाके की पेयजल व्यवस्था को दुरुस्त करने के लिए जल निगम द्वारा पेयजल परियोजना का निर्माण कराया गया था। लेकिन परियोजना के शुरूआत से ही अनियमित पेयजल आपूर्ति से इलाके के लोग परेशान रहते हैं। आरोप है कि परियोजना के निर्माण में शिथिलता बरती गई। मानकों को दरकिनार कर पेयजल संयंत्र का स्थापना किया गया जो आए दिन खराब रहता है। अखिलेश सिंह सुरेंद्र शाह गणेश चौरसिया विजय केसरवानी आदि लोगों ने आरोप लगाया कि परियोजना के निर्माण कार्य में भौगोलिक स्थिति को ध्यान में रखा गया होता तो पेयजल आपूर्ति में समस्या उत्पन्न नहीं होती। निहाईपाथर से जंगल के रास्ते आ रही मेनलाइन पाइप तो कभी बिजली के तारों के टूटने से आए दिन पेयजल आपूर्ति बाधित रहती है। जिसे लेकर विभाग के अधिकारियों से कई बार शिकायत किया गया लेकिन व्यवस्था बद से बदतर होता जा रहा है। पिछले एक साल से नगर पंचायत प्रशासन पेयजल आपूर्ति का संचालन कर रहा है बावजूद व्यवस्था में कोई सुधार नहीं हो रहा। इलाके में हैंडपंपों की संख्या भी सीमित है। परियोजना के शुरू होने से हैंडपंपों के रखरखाव पर भी असर पड़ा। अब आपूर्ति बाधित होने से लोगों के सामने पीने सहित दैनिक कामों में उपयोग करने के लिए पानी नहीं मिल पा रहा है। पिछले 15 दिनों में विद्युत आपूर्ति बाधित और मेनलाइन पाइप के क्षतिग्रस्त होने से लोगों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। नगर पंचायत के अधिशासी अधिकारी लल्लन राम यादव का कहना है कि समस्या मेरे संज्ञान में है। पाइप लाइन लीकेज होने से जलापूर्ति बाधित है जिसके मरम्मत का कार्य चल रहा है। जो रविवार देर शाम तक ठीक कर लिया जाएगा। सोमवार से आपूर्ति सुचारू ढंग से चालू हो जाएगा। अभी जिन इलाके में पेयजल की समस्या ज्यादा है वहां टैंकर के माध्यम से लगातार आपूर्ति कराया जा रहा है।

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Previous post अमृत महोत्सव के तहत हर घर तिरंगा फहराने के लिए भाजपा ने झोंकी ताकत सफलता को किया मंथन
Next post कच्चे धागे के बंधन से भावनात्मक रिश्ता जोड़ गए इन्द्रेश कुमार, मुस्लिम महिलाओं ने बांधी राखी, दलित महिलाओं ने उतारी आरती