August 12, 2022

रामनगर पुलिस द्वारा तस्करों से मुक्त 16 ऊंटों में से एक ऊंट ने तोड़ा दम।

Advertisement
Advertisement

वाराणसी/संसद वाणी

रामनगर पुलिस की ओर से बीते 28 जून को तीन तस्करों के चंगुल से छुड़ाए गए 16 ऊंटों में से एक ऊंट ने दम तोड़ दिया। ये सभी ऊंट गांव ज्ञान फाउंडेशन के सहयोग से मुक्त कराए गए थे। फाउंडेशन की ओर से इन ऊंटों के सुरक्षित जीवन के लिए उन्हें राजस्थान के सिरोही स्थित आश्रय स्थल भिजवाने के लिए कोर्ट में अर्जी दी गई थी। इस प्रकरण में कोर्ट में जिलाधिकारी को ऊंटों को सिरोही भिजवाने का आदेश दिया था। आदेश के क्रम में डीएम ने फाउंडेशन को अपने खर्च पर ऊंट ले जाने का आदेश दिया था। कम दर पर परिवहन और चारा की व्यवस्था के लिए उन्होंने एआरटीओ सर्वेश चतुर्वेदी और मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी राजेश कुमार सिंह को आदेशित किया था। इस आदेश के विरोध में भी फाउंडेशन कोर्ट गया हुआ है। फाउंडेशन के अधिवक्ता सौरभ तिवारी ने ऊंट की मौत पर प्रशासनिक लापरवाही बताया है।

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Previous post केंद्र व प्रदेश की जन कल्याणकारी योजना से कुड़िहर गांव वंचित विकास से कोसों दूर।
Next post चोलापुर पुलिस नहीं दिला पा रही पीड़ित परिवार को न्याय।