August 9, 2022

जनसंख्या स्थिरीकरण के प्रति जागरूकता बढ़ाएं : सीएमओ

Advertisement
Advertisement

• सीएमओ कार्यालय में हुई गोष्ठी में जनसंख्या स्थिरीकरण पर दिया ज़ोर
• विश्व जनसंख्या दिवस मनाया, कहीं निकली गई रैली तो कहीं हुई गोष्ठी
• शुरू हुआ जनसंख्या स्थिरता पखवाड़ा, लगेंगे निःशुल्क नसबंदी शिविर

वाराणसी/संसद वाणी

विश्व जनसंख्या दिवस पर जिले के समस्त ब्लॉक के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र (सीएचसी) व प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र (पीएचसी) पर जन जागरूकता रैली निकली गयी। मुख्य चिकित्सा अधिकारी कार्यालय में सीएमओ डॉ संदीप चौधरी की अध्यक्षता में जनसंख्या दिवस पर गोष्ठी का आयोजन किया गया।
इस मौके पर सीएमओ ने जनसंख्या स्थिरीकरण पर ज़ोर देते हुये परिवार नियोजन की महत्ता एवं गूवत्तापूर्वक सेवा पर प्रकाश डाला। परिवार नियोजन से जुड़ी समस्या मातृ एवं शिशु मृत्यु दर तथा लिंगानुपात को कम करने पर विशेष ज़ोर दिया। उन्होने कहा कि चिकित्सा, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग मातृ एवं शिशु मृत्यु दर में कमी लाने और परिवार नियोजन कार्यक्रम को गति देने के लिए सम्पूर्ण प्रयास कर रही है। विगत वर्षों की तरह इस वर्ष भी जनसंख्या स्थिरता पखवाड़े का आयोजन किया जाएगा। जनसंख्या स्थिरीकरण के प्रति समाज को जागरूक करने के लिए प्रतिवर्ष 11 जुलाई को विश्व जनसंख्या दिवस मनाया जाता है। इस वर्ष इसकी थीम “परिवार नियोजना का अपनाओ उपाय, लिखो तरक्की का नया अध्याय” तय की गई है।
इस दौरान एसीएमओ व परिवार नियोजन कार्यक्रम के नोडल अधिकारी डॉ राजेश प्रसाद ने बताया गया कि जिले में 27 जून से 10 जुलाई तक दंपति संपर्क पखवाड़ा में आशा कार्यकर्ताओं द्वारा घर-घर भ्रमण कर परिवार नियोजन के स्थायी व अस्थायी साधनों पर प्रचार-प्रसार व जागरूक किया गया । अब द्वितीय चरण यानि 11 जुलाई से 31 जुलाई तक मनाए जा रहे जनसंख्या स्थिरता पखवाड़ा में जनपद की विभिन्न स्वास्थ्य इकाइयों पर परिवार नियोजन की सेवाएँ दी जाएंगी।
जिला कार्यक्रम प्रबन्धक संतोष कुमार सिंह ने बताया कि जनसंख्या स्थिरता पखवाड़ा में इच्छुक लाभार्थियों को परिवार नियोजन की समस्त सेवाएँ प्रदान की जाएंगी। सोमवार से 31 जुलाई तक अलग-अलग दिवस में जिला एवं ब्लॉक स्तरीय चिकित्सालयों पर विशेष कैंप लगाए जाएंगे। जिला स्तर पर एसएसपीजी मंडलीय चिकित्सालय तथा शहरी सीएचसी दुर्गाकुंड में प्रत्येक कार्य दिवस पुरुष नसबंदी की सेवाएँ दी जाएंगी। वहीं ग्रामीण क्षेत्र के समस्त पीएचसी-सीएचसी पर प्रत्येक कार्य दिवस नसबंदी नियत सेवा दिवस कैंप लगाए जाएंगे। इसके अलावा सभी ग्रामीण एवं नगरीय स्वास्थ्य केन्द्रों पर परिवार नियोजन की अंतराल विधियों (अस्थायी साधनों) की निःशुल्क सेवाएँ भी प्रदान की जाएंगी। इस मौके पर डिप्टी सीएमओ डॉ सुरेश सिंह, एसीएमओ डॉ एके मौर्य, डीएचईआईओ हरिवंश यादव, पीएसआई से अखिलेश एवं अन्य अधिकारी मौजूद रहे।

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Previous post मुस्तफाबाद के अनिल यादव बने मिस्टर स्मार्ट, अब समुदाय को करेंगे जागरूक
Next post आर टी सी दीक्षांत परेड समारोह वर्ष -2022 सम्पन्न।