August 9, 2022

सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव और ओमप्रकाश राजभर के बीच तलाक होगा क्‍या, सियासी पंडितो का कहना

Advertisement
Advertisement

गाजीपुर/संसद वाणी

सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष ओमप्रकाश राजभर और सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव के बीच बयानबाजी चरम पर है। जिससे पूरे प्रदेश की सियासद गरमाई हुई है। इसका पूर्वांचल पर भी गहरा असर दिखाई दे रहा है, क्‍योंकि सपा सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के गठबंधन ने विधानसभा चुनाव 2022 में गाजीपुर, आजमगढ़, मऊ, जौनपुर, बलिया आदि जिलो में परचम लहराया। गाजीपुर और आजमगढ में तो भाजपा का पूर्ण रूप से सफाया कर दिया। वर्षो बाद इन दोनो जिलो में भाजपा का खाता नही खुल पाया, लेकिन एमएलसी चुनाव के बाद दोनो दलों के बीच कटूता उत्‍पन्‍न होने लगी। आजमगढ के लोकसभा उपचुनाव के हार के बाद दोनो लोगो के बीच बयानबाजी चरम पर आ गया है, बयानबाजी को देखते हुए सियासी गलियारो में यह चर्चा होने लगी है कि सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव और ओमप्रकाश राजभर के बीच तलाक होगा क्‍या। सियासी पंडितो का कहना है कि ओमप्रकाश राजभर राजनीति का ताक्रम जानते है कब किस तापमान पर किसपर चोंट करना है इसके महारथी है। उन्‍हे सत्‍ता का आनंद भाजपा ने दिला दिया है इसलिए वह बहुत दिनो तक सत्‍ता से दूर नही रह सकते है। ओमप्रकाश राजभर यह भी जानते है कि सपा-बसपा और भाजपा जैसे बड़े दल उनके बिना लोकसभा 2024 में कोई बड़ा करिश्‍मा नही कर सकते है। सबकी मजबूरी है ओमप्रकाश राजभर जरूरी है। ओमप्रकाश राजभर प्रेशर पॉलिटिक्‍स कर रहें है। जिससे 2024 के लोकसभा चुनाव में उन्‍हे गठबंधन में ज्‍यादे से ज्‍यादे सीट हासिल हो सकें।

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Previous post जुमे की नमाज के दृष्टिगत सुरक्षा व्यवस्था किया गया चुस्त-दुरुस्त
Next post कायाकल्प से विद्यालय संवर रहे हैं– संदीप सिंह। बेसिक शिक्षा मंत्री ने किया विद्यालय का निरीक्षण।