August 9, 2022

शराब की दुकान को हटाने की मांग को लेकर आक्रोशित महिलाओं ने किया विरोध प्रदर्शन व चक्काजाम

Advertisement
Advertisement

एसओ राम आशीष राम के आश्वासन पर हटाया चक्का जाम,चक्का जाम डेढ़ घंटा चला,क्षेत्राधिकारी सदर ने मौका मुआयना कर शराब की दुकान बंद करने का दिया निर्देश

रोहनिया/संसद वाणी

राजातालाब थाना क्षेत्र के कचहरिया गांव में खुले शराब की दुकान को बंद कराने की मांग को लेकर शुक्रवार को सुबह 9:30 पर लक्ष्य फाउंडेशन के उपाध्यक्ष डॉ रंजना शर्मा के नेतृत्व में सैकड़ों महिलाओं ने जितापुर से जख्खिनी जाने वाली रोड पर चक्का जाम व विरोध प्रदर्शन किया। चक्का जाम के वजह से ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों को आवागमन हेतु काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा।जिसकी सूचना पाकर मौके पर पहुंचे राजातालाब थाना प्रभारी राम आशीष राम ने आक्रोशित महिलाओं को समझा-बुझाकर शराब की दुकान हटवाने का आश्वासन देकर चक्का जाम समाप्त कराया। आक्रोशित महिलाओं द्वारा सुबह 9:30 बजे से लेकर 11 बजे तक लगभग डेढ़ घंटा तक चक्का जाम चला।लक्ष्य फाउंडेशन के उपाध्यक्ष डॉ रंजना शर्मा ने बताया कि इस शराब की दुकान का लाइसेंस महगांव में हुआ है जिसका गुरुवार को महगांव की आक्रोशित महिलाओं ने विरोध किया तो शुक्रवार को कचहरीया गांव में शराब की दुकान खोल दिए।जिसे देखकर कचहरिया गांव की महिलाएं आगबबूला होकर आक्रोशित महिलाओं ने शराब की दुकान को तुरंत हटाने की मांग को लेकर जितापुर से जख्खिनी जाने वाले मार्ग पर चक्का जाम कर दिया।सूचना पाकर मौके पर पहुंचे क्षेत्राधिकारी सदर अखिलेश राय ने शराब की दुकान को तुरंत बंद करने तथा दुकान से शराब खाली करने का निर्देश दिया। और दुकानदार श्रीप्रकाश जायसवाल से शराब की दुकान की चौहद्दी दिखाने को कहा।
इस दौरान मुख्य रूप से डॉ रंजना शर्मा,लक्ष्मी देवी, अनीता, निर्मला देवी, सुनीता देवी, चंपा देवी, फरजाना, रीता देवी, सरिता देवी ,विमला देवी, मंजू देवी, अमरावती देवी, इंद्रावती देवी, निर्मला देवी,सावित्री देवी ,शांति देवी, मंजू देवी, उर्मिला ,सविता ,कलावती, मीरा, सितारा इत्यादि ग्रामीण महिलाएं शामिल रही।

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Previous post प्रधानमंत्री ने राष्ट्रीय शिक्षा नीति के क्रियान्वयन के संबंध में तीन दिवसीय अखिल भारतीय शिक्षा समागम का किया उद्घाटन
Next post जुमे की नमाज के दृष्टिगत सुरक्षा व्यवस्था किया गया चुस्त-दुरुस्त