August 12, 2022

सतर्कता ही संचारी रोगों से बचाव का बेहतर उपाय- डा. नीलकंठ तिवारी

Advertisement
Advertisement

जिले में विशेष संचारी रोग नियंत्रण अभियान शुरू
शहर के साथ ही ग्रामीण क्षेत्र में भी निकाली रैली निकाली, किया जागरूक
31 जुलाई तक चलेगा जागरूकता का कार्यक्रम
16 जुलाई से शुरू होगा दस्तक अभियान

वाराणसी/संसद वाणी


जनपद में शुक्रवार को विशेष संचारी रोग नियंत्रण अभियान शुरू हुआ। जिला महिला चिकित्सालय-कबीरचौरा में आयोजित समारोह में पूर्व मंत्री व शहर दक्षिणी के विधायक डा. नीलकण्ठ तिवारी ने लोगों को संचारी रोग नियंत्रण के प्रति जागरूक होने के आह्वान के साथ ही रैली को हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया। इसके साथ ही पूरे जिले के समस्त सामुदायिक, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों व ब्लाक स्तरीय स्वास्थ्य केन्द्रो में कार्यक्रमों का आयोजन कर जागरुकता रैलियां निकाली गयीं।

संचारी रोग नियंत्रण अभियान


जिला महिला चिकित्सालय में आयोजित समारोह में विचार व्यक्त करते हुए डा. नीलकण्ठ तिवारी ने कहा कि विशेष संचारी रोग नियंत्रण अभियान महज एक अभियान नहीं बल्कि ऐसा अनुष्ठान भी है जो प्रदेश सरकार की ओर से लोगों को संक्रामक बीमारियों से बचाने के लिए किया जा रहा है। लिहाजा अभियान में जन सहभागिता बेहद जरूरी है। साफ-सफाई के प्रति हमारी थोड़ी सी जागरुकता सिर्फ हमें ही नहीं परिवार व समाज को भी गंभीर बीमारियों से बचा सकती है। उन्होंने कहा कि एक समय ऐसा भी था जब जापानी बुखार गोरखपुर और उसके आसपास के क्षेत्रों में बच्चों की जिंदगी को खत्म कर देता था। कालरा, प्लेग, कालाजार जैसी बीमारियों से हर वर्ष काफी संख्या में लोग मरते थे, लेकिन प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ के कुशल नेतृत्व की देन है कि आज हम ऐसे खतरनांक रोगों पर विजय प्राप्त कर चुके है। उन्होंने कहा कि अन्य संचारी रोगों खत्म करने के लिए सभी को जागरूक होना बहुत जरूरी है। जागरुकता और सतर्कता ही इन रोगों से बचाव का बेहतर उपाय है।


समारोह में मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. संदीप चौधरी ने कहा कि संचारी रोग सिर्फ लापरवाही से होता है। गंदे पानी का सेवन, घर के आसपास जल-जमाव जैसी छोटी-छोटी बातों के प्रति यदि हम सजग हो जाए तो बड़े खतरे से बच सकते हैं। उन्होंने कहा कि हम सभी सतर्क रहे। घर के आस-पास गंदे जल का जमाव न होने दे और लोगो को भी इसके प्रति जागरूक करें। संचारी रोग से यदि कोई बीमार होता है तो उसका तत्काल उपचार शुरू कराए। उन्होंने कहा कि संचारी रोगों के खिलाफ अभियान में एक साथ कई विभागों का सड़क पर उतरना ही अपने आप में महत्वपूर्ण है। सम्बंधित विभागो के लोग घर-घर जायेगे। लोगो को इसके खतरे से अवगत कराने के साथ ही बचाव के लिये भी जागरूक करेंगे। इससे सफलता जरूर मिलेगी।
अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी (नोडल अधिकारी ) डा. एसएस कनौजिया ने कहा कि अभियान में चिकित्सा स्वास्थ्य विभाग, नगर निगम, नगर पंचायत विकास, पंचायती राज, ग्राम्य विकास विभाग, बाल विकास एवं पुष्टाहार विभाग, शिक्षा विभाग, दिव्यांगजन विभाग, कृषि एवं सिचाई विभाग, सूचना और उद्यान विभाग की सहभागिता रहेगी। उन्होंने बताया कि विशेष संचारी रोग नियन्त्रण अभियान 31 जुलाई तक चलेगा। इस दौरान वेक्टर जनित रोग जैसे मलेरिया, डेंगू और चिकनगुनिया की रोकथाम के लिए के लिए कई कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे।
जिला मलेरिया अधिकारी शरद चंद्र पांडेय ने कहा कि सभी विभागों को जिम्मेदारियां सौंप दी गई है। जहां भी मच्छर पनपने की संभावना होगी। वहां निरोधात्मक कार्रवाई की जाएगी। उन्होने बताया कि 16 जुलाई से दस्तक अभियान भी शुरू होगा, जिसमें स्वास्थ्य कार्यकर्ता घर-घर जाकर इस बारे में लोगों को जागरूक करेंगे।
कार्यक्रम के प्रारम्भ में अतिथियों का स्वागत नगर स्वास्थ्य अधिकारी डा. एनपी सिंह ने किया साथ ही अभियान के बारे में विस्तार से जानकारी दी। समारोह में संयुक्त निदेशक स्वास्थ्य के अलावा मण्डलीय चिकित्सालय के एसआईसी डा. हरिचरण सिंह, जिला महिला चिकित्सालय के एसआईसी एके श्रीवास्तव, सहायक मलेरिया अधिकारी केके राय, यूनिसेफ के क्षेत्रीय समन्वयक प्रदीप विश्कर्मा, यूनीसेफ के डा. शाहिद,शबा, सुषमा व तबरेज समेत स्वास्थ्य विभाग के अन्य अधिकारी,कर्मचारी मौजूद थे। समारोह का संचालन डीएचईआईओ हरिवंश यादव ने किया।

डाक्टर्स-डे पर दी बधाई

विशेष संचारी रोग नियंत्रण अभियान के शुरूआत के अवसर पर जिला महिला चिकित्सालय में आयोजित समारोह में पूर्व मंत्री व शहर दक्षिणी के विधायक डा. नीलकण्ठ तिवारी ने डाक्टर्स-डे पर चिकित्सकों को बधाई दी और कहा कि कोविड संकट के समय चिकित्सकों ने जिस तरह अपनी जान जोखिम में डालकर लोगों की सेवा की है, उसकी कितनी भी तारीफ की जाय कम है। उन्होंने कहा खास तौर पर वाराणसी के चिकित्सकों ने इस दिशा में जो योगदान दिया उसकी पूरे देश में सराहना हुई। कार्यक्रम में मौजूद चिकित्सकों के साथ पूर्व मंत्री ने सेल्फी खिंचवाईऔर उम्मीद जताया कि वह भविष्य में भी अपने प्रदर्शन से काशी का नाम रौशन करते रहेंगे।

हरी झंडी दिखाकर रवाना किया

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Previous post हिंदू जागरण मंच उदयपुर नृसंस हत्या के विरोध में अर्धनग्न अवस्था में काली पट्टी बांध जताया विरोध
Next post <em>कुपोषण की रोकथाम के लिए शुरू हुआ ‘सम्भव’ अभियान</em>