August 18, 2022

काशी के कोतवाल बाबा श्री काल भैरव जी की भव्य 69 वां शोभायात्रा 1 जुलाई को निकाली जाएगी।

Advertisement
Advertisement

वाराणसी/संसद वाणी

काशी के कोतवाल बाबा श्री काल भैरव जी की वर्ष 1954 में निर्मित स्वर्ण – रजत पंचबदन प्रतिमा की भव्य 69 वां शोभायात्रा 1 जुलाई 2022 दिन शुक्रवार को प्रातः 7:00 चौखंबा स्थित काठ की हवेली से स्वर्णकार क्षत्रिय कमेटी वाराणसी के तत्वावधान में निकाली जाएगी। उक्त जानकारी पराड़कर स्मृति भवन में आयोजित पत्रकार वार्ता में स्वर्णकार क्षत्रिय कमेटी के अध्यक्ष किशोर कुमार सेठ ने दी।
अध्यक्ष किशोर कुमार सेठ ने बताया कि 69 वें शोभायात्रा में सर्वप्रथम आगे पुलिस घुड़सवार चलेंगे। उनके साथ ताशा – बाजा के साथ भक्तगण ध्वजा पताका लिए अग्रिम पंक्ति में चलेंगे। साथ ही कमेटी के संस्थापक द्वय स्वर्गीय किशुन दास जी और स्वर्गीय भीकू सिंह जी की तस्वीर भी सुसज्जित रथ पर चलेगी। बैंड पार्टी सुमधुर धुन बिखेरते चलेंगे। साथ में माता स्वरूप प्रतिमाएं अपने करतब दिखाते हुए चलेंगी। 11 सुसज्जित छतरी युक्त घोड़ों पर देव प्रतिमाएं राम, लक्ष्मण, भरत, शत्रुघ्न, हनुमान, शंकर, गणेश, नारद, ब्रह्मा जी के साथ दो दरबान भी विराजमान रहेंगे। इस दौरान पाइप बैंड का भी आकर्षण रहेगा।
कमेटी के अध्यक्ष किशोर कुमार सेठ ने बताया कि शोभा यात्रा के दौरान शंकर – पार्वती, राधा – कृष्ण, दुर्गा जी, काली जी, हनुमान जी की भी आकर्षक झांकी रहेगी। इवेंट प्लानर की टीम नीरज सेठ के नेतृत्व में रास्ते भर भजन प्रस्तुत करती रहेगी।
अध्यक्ष ने बताया कि गोविंदेश्वर महादेव की आकर्षक झांकी तथा डमरू दल भी शोभायात्रा के केंद्र बिंदु होंगे। शोभायात्रा के अंत में शहनाई के साथ नई साज-सज्जा के साथ फूलों से सुसज्जित बाबा का स्वर्णिम रथ होगा। रास्ते पर भक्तों को प्रसाद का वितरण भी होता रहेगा। अध्यक्ष किशोर कुमार सेठ ने बताया कि बाबा के स्वागत हेतु विभिन्न सामाजिक संगठनों तथा बाबा के भक्तों द्वारा लगभग 40 स्थानों पर पूजा अर्चना भी होगा
उन्होंने बताया कि भव्य शोभायात्रा के कुशल संचालन हेतु शोभायात्रा मंत्री राजू वर्मा के सहयोगी के रुप में कमेटी के पदाधिकारियों की टीम बनाया गया है।
स्वर्णकार क्षत्रिय कमेटी के महामंत्री श्याम कुमार सराफ ने बताया कि शोभायात्रा काठ की हवेली, चौखंभा से प्रारंभ होकर बीवी हटिया, जतनबर, विशेश्वरगंज, महामृत्युंजय, दारानगर, मैदागिन, बुलानाला, चौक, नारियल बाजार, गोविंदपुरा, ठठेरी बाजार, सोराकुआं, गोलघर, भुतही इमली होते हुए कालभैरव मंदिर पर जाकर संपन्न होगा।
महामंत्री ने बताया कि बाबा की स्वर्ण – रजत प्रतिमा मंदिर में प्रतिस्थापित कर भव्य श्रृंगार व पूजन किया जाएगा। समयानुसार रात्रि 11:00 बजे तक दर्शन पूजन का कार्य चलता रहेगा। पंडित लक्ष्मीकांत दीक्षित के आचार्यत्व में सायंकाल बसंत पूजा होगी। उन्होंने बताया कि इस अवसर पर काशी के कोतवाल स्मारिका का भी प्रकाशन किया गया है, जिसका कुशल संपादन श्याम सुंदर सिंह ने किया। उन्होंने बताया कि मंदिर प्रांगण में भी टीम बनाकर प्रसाद वितरण की व्यवस्था की गई है।
शोभायात्रा एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम मंत्री राजू वर्मा ने बताया कि शोभायात्रा के आयोजन में मीडिया प्रभारी का प्रभार डॉक्टर कैलाश सिंह विकास को सौंपा गया है। उन्होंने बताया कि पूरे मंदिर परिसर से भैरवनाथ चौराहे से लेकर नवनिर्मित कालभैरव द्वार तक विद्युत झालरों इत्यादि तथा फूल मालाओं से भव्य सजावट किया जाएगा। उन्होंने काशी की धर्म पारायण जनता से अपने प्रतिष्ठानों को दोपहर 1:00 बजे तक बंद कर शोभायात्रा में सपरिवार शामिल होने की अपील की। साथ ही आग्रह किया कि मंदिर में सपरिवार दर्शन कर अपने जीवन को धन्य बनाएं।
शोभायात्रा मंत्री राजू वर्मा ने बताया कि शोभायात्रा के मार्गो की मरम्मत, गोलघर में लगे लोहे के दो गार्डर को निकालने, चूने का छिड़काव, सफाई व्यवस्था तथा मंदिर क्षेत्र में प्रकाश की व्यवस्था के लिए 27 जून को नगर आयुक्त को पत्र सौंपा गया है।
पत्रकार वार्ता के दौरान अध्यक्ष किशोर कुमार सेठ, महामंत्री श्याम कुमार सर्राफ, शोभायात्रा मंत्री राजू वर्मा, कोषाध्यक्ष जनार्दन वर्मा, श्याम सुंदर सिंह, कमल कुमार सिंह के साथ मीडिया प्रभारी डॉ कैलाश सिंह विकास, घनश्याम सेठ बच्चा आदि सदस्य उपस्थित थे।

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Previous post ट्रक और ऑटो की टक्कर में बेटे की मौत मां गंभीर रूप से घायल
Next post राज्य सूचना आयुक्त ने बिजली विभाग के सिविल डिवीजन के अधिशासी अभियंता को सुनवाई के दौरान नहीं पहुंचने पर किया तलब।