August 12, 2022

हिंडाल्को इंडस्ट्रीज लिमिटेड में एक नेता द्वारा नौकरी दिलाने का झांसा देकर पैसा लेने का मामला प्रकाश में आया।

Advertisement
Advertisement

रेणुकूट/संसद वाणी

हिंडाल्को इंडस्ट्रीज लिमिटेड में मान्यता प्राप्त यूनियन के एक नेता द्वारा नौकरी दिलाने का झांसा देकर पैसा लेने का मामला प्रकाश में आया है। संस्थान में कार्यरत संविदाकर्मी ने रेणुकूट पुलिस चौकी में प्रार्थना पत्र देकर न्याय की गुहार लगाई है। कयास लगाया जा रहा है कि पुलिसिया जांच में नौकरी के नाम पर धोखाधड़ी के कई अन्य मामले भी सामने आ सकते हैं। संस्थान में कार्यरत एक संविदा कर्मी ने स्थानीय पुलिस चौकी में प्रार्थना पत्र देकर हिंडाल्को इंडस्ट्रीज लिमिटेड में मान्यता प्राप्त यूनियन के पदाधिकारी पर नौकरी दिलाने के नाम पर पैसा लेने का आरोप लगाया है। युवक ने प्रार्थना पत्र में लिखा कि संस्थान में मान्यता प्राप्त यूनियन के अध्यक्ष के बहकावे और विश्वास में आ गया। नेता द्वारा कहा गया कि अगर किसी को पार्टरूम में भर्ती कराना है तो बीस हजार का खर्च लगेगा। श्रमिक यूनियन के बड़े नेता होने के नाते मैंने विश्वास करते हुए अपने एक गरीब बेरोजगार मित्र को पार्टरूम में भर्ती कराने के लिए उनसे बात की। उन्होंने तत्काल 10 हजार रुपए की मांग की। जब हमने असमर्थता जाहिर की तो उन्होंने नौकरी दिलाने से मना कर दिया। नौकरी के लालच में हमने उधार लेकर उक्त नेता के बैंक अकाउंट में 10 हजार रुपए ट्रांसफर कर दिए। लेकिन कई भर्ती होने के बावजूद मेरे मित्र का नौकरी नहीं लग पाया। अब मैं उनसे अपने पैसे वापस मांग रहा हूं तो लौटाने में आनाकानी कर रहे हैं। पीड़ित ने चौकी इंचार्ज को प्रार्थना पत्र देकर शीघ्र न्याय की गुहार लगाई है। वहीं कर्मचारी नेता ने इस आरोप को निराधार बताया है। कहा कि यूनियन के अधिवेशन के लिए युवक ने चंदा दिया था। जिसे मैंने वापस कर दिया है। इस मामले में चौकी इंचार्ज शिवकुमार सिंह का कहना है कि यूनियन के अध्यक्ष ने युवक के खाते में पैसा ट्रांसफर कर दिया है। जिसका आपसी समझौता सोमवार को दोनों पक्षों ने कर लिया है। अब कोई विवाद नहीं है।

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Previous post निर्वाचित भाजपा सांसद निरहुआ ने सीएम योगी से की मुलाकात, आभार व्यक्त किया, भेंट की श्रीराम की प्रतिमा
Next post छह दशक से अधिक समय तक समाचार पत्र अभिकर्ता (एजेंट) की जिम्मेदारी निभाने वाले 90 वर्षीय गोपाल जी शर्मा अब नहीं रहे।