July 1, 2022

नयी तकनीकी से धान की खेती अब लाभदायक।

Advertisement
Advertisement

गाजीपुर/संसद वाणी

नयी तकनीकी से धान की खेती अब लाभदायक हो रही है। इससे जहां समय,बीज और लागत में कमी आ रही है,वहीं धान की उपज भी बढ़ रही है। फिल्ड टेक्नीशियन राजेश राय ने बताया कि अंतरराष्ट्रीय मक्का व गेहूं अनुसंधान केंद्र (सीमिट) के निर्देशन में अब किसान धान की काफी क्षेत्र में बुवाई करते हुए अपनी पैदावार बढ़ाने में नई तकनीक का उपयोग कर रहे हैं। पुरानी पद्धति से धान की खेती करना अब घाटे का सौदा हो गया है। धान की खेती के लिए पहले नर्सरी डालनी होती थी और फिर इक्कीस दिनों के बाद धान की रोपाई के लिए खेत में लेवा लगाकर मजदूरों के माध्यम से धान की रोपाई की जाती थी, इससे जहां समय और बीज का अपव्यय होता था वहीं मजदूरी में भी काफी धन खर्च होता था। उन्होंने बताया कि नयी तकनीकी द्वारा धान की खेती में न तो नर्सरी तैयार करने की जहमत है, न खेत में मजदूर लगाने की आवश्यकता है और ना ही नर्सरी से बेहन निकाल कर फिर खेत में रोपने की मेहनत है। नई तकनीक से बुवाई करने से तीनों प्रक्रिया समाप्त हो जाएंगी और कम बीज के द्वारा एक ही बार बुवाई कर देने से अच्छी पैदावार भी प्राप्त होगी।

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Previous post जिलाधिकारी आजमगढ़ व पुलिस अधीक्षक द्वारा लोकसभा उपचुनाव को सकुशल सम्पन्न कराने हेतु किया गया अतिसंवेदनशील व संवेदनशील मतदान केन्द्रों का भ्रमण व चेकिंग ।
Next post श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने राष्ट्रवाद का अलख जगाने की शुरुआत की – संतोष पटेल