July 4, 2022

चिकित्सक की लापरवाही पर भी जमकर बरसे परिजन

Advertisement
Advertisement

अस्पताल में किसी चिकित्सक के न मिलने पर किया हंगामा।

पिंडरा/संसद वाणी
एक तरफ सरकार रात्रि में सरकारी अस्पतालों में ओपीडी चलाने का दावा कर रही हैं तो दूसरी तरफ पिंडरा पीएचसी सरकार के इस आदेश को ठेंगा दिखाती नजर आ रही है। यह पोल उस समय खुल गई जब बोरवेल में गिरे बच्चे को लेकर परिजन पीएचसी पिंडरा पहुचे और काफी हो हल्ला और हंगामा शुरू के आधे घंटे बाद चिकित्सक सामने आए और बच्चे को देखने के बाद मृत घोषित कर दिया। जिसको लेकर परिजनों ने चिकित्सक को खूब खरी खोटी सुनाई। यही नही चिकित्सक ने नियम का भी नही पालन किया। न तो बच्चे की एंट्री की ना ही पुलिस को मेमो तक नही भेजा। जिससे पुलिस को समय से जानकारी नही हो पाई। जिसके कारण पुलिस को शव को लेने के लिए काफी मशक्कत व जलालत झेलनी पड़ी। मृत बच्चे के चचेरे भाई धर्मेंद्र यादव ने बताया कि 30 मिनट बाद एक चिकित्सक आये और देखने के बाद कहा मर गया है ले जाओ। कोई लिख कर कागज भी नही दिया। ग्रामीणों ने बताया कि दोपहर के बाद अस्पताल पर कोई चिकित्सक नही मिलता। यही नही खुद सीएमओ भी दो बार पकड़ चुके है। लेकिन स्थिति सुधरने का नाम नही ले रही है। इस बाबत प्रभारी चिकित्सा अधिकारी डॉ संतोष सिंह ने आरोप को बेबुनियाद बताया।

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Previous post बोरवेल में गिरने से 13 वर्षीय बच्चे की मौत, ग्रामीणों ने की नारेबाजी और कार्रवाई की मांग
Next post <em>बाल विवाह रोकने हेतु ग्राम बाल संरक्षण समितियों को किया जाए सक्रिय:-दीपांकर आर्य</em>