July 6, 2022

श्रीकाशी मोक्षदायनी सेवा समिति द्वारा बाबा विश्वनाथ को 1008 कलश से गंगा जल लाकर उनको अर्पित किया।

Advertisement
Advertisement

वाराणसी

गंगा दशहरा के ठीक दुसरे दिने ज्येष्ठ माह की निर्जला एकादशी पर सुबह से ही मां गंगा में पुण्य की डुबकी लगाने शुरू कर दी थी। वहीं श्रीकाशी मोक्षदायनी सेवा समिति द्वारा बाबा विश्वनाथ को 1008 कलश से गंगा जल लाकर उनको अर्पित किया। भक्तों ने राजेंद्र प्रसाद घाट से कलश में गंगा जल भरा। श्रीकाशी मोक्षदायिनी सेवा समिति द्वारा यह परंपरा 24 वर्ष पहले वर्ष 1998 में शुरू की गई थी। राजेंद्र प्रसाद घाट से गंगाजल लेकर निकले भक्त हर-हर महादेव का उद्घोष कर रहे थे। बाबा विश्वनाथ के धाम पहुंच कर भक्तों ने उनका जलाभिषेक और रुद्राभिषेक किया। इस दौरान शिव भक्तों का उत्साह देखते ही बन रहा था।

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Previous post कानपुर में हुए बवाल के बाद वाराणसी में जुमे को देखते हुए बजरडीहा इलाके में पुलिस कमिश्नर ने आला अधिकारियों संग फुट पेट्रोलिंग की।
Next post इस्लामी जिहादियो के आतंक से देश को बचाने के लिए संतो ने कसी कमर