July 6, 2022

मुस्लिम भाइयों को धर्म निरपेक्षता दिखाते हुए मस्जिद हिन्दू पक्ष को सौंप देनी चाहिए–एम एस बिट्टा

Advertisement
Advertisement

वाराणसी/संसद वाणी

ज्ञानवापी परिसर में ज्योतिर्लिंग था, ज्योतिर्लिंग है जब तक दुनिया है और दुनिया के बाद तक वहां ज्योतिर्लिंग रहेगा, इसलिए मुस्लिम भाइयों को धर्म निरपेक्षता दिखाते हुए मस्जिद हिन्दू पक्ष को सौंप देनी चाहिए। उक्त बातें वाराणसी पहुंचे अखिल भारतीय आतंकवादी विरोधी मोर्चा के अध्यक्ष एम एस बिट्टा विश्वनाथ धाम में दर्शन के बाद कहीं। उन्होंने कहा कि औरंगजेब, ज़ालिम और बाबर काफिर था उसने कई मंदिरों को तोड़ा और सिख समुदाय का कत्ले आम किया। साथ ही उन्होंने यहाँ भी कहा कि यहां अजमेर के ख्वाजा गरीब नवाज जैसे पीर-पैगम्बर की मजार नहीं है। इसलिए यहाँ नमाज नहीं हो सकती क्योंकि ये मंदिर है। जालिम औरंगजेब और काफिर बाबर ने किया मंदिरों का अपमान अखिल भारतीय आतंकवादी विरोधी मोर्चा के अध्यक्ष एम एस बिट्टा ने आगे कहा कि मुस्लिम भाइयों से हाथ जोड़कर प्रार्थना है कि वो सेक्युलिरिजम का सबूत दें। मथुरा और काशी इतिहास से जुड़ा हुआ है। यहाँ मंदिरों का अपमान हुआ है। भारत में जालिम औरंजेब और काफिर बाबर के समय में मंदिरों का अपमान हुआ है। उन्होंने कहा कि औरंजेब वह था जिसने गुरु गोविन्द साहब के बच्चों को नींव में चुनवा दिया। उसने गुरु तेग बहादुर-हिन्द की चादर का चांदनी चौक में शीश कलम कर दिया। हजारों सिखों को अपनी कुर्बानी देनी पड़ी मंदिरों का अपमान हुआ। हम मुसलमानों के खिलाफ नहीं एम एस बिट्टा ने आगे कहा कि हम मुस्लिम धर्म के खिलाफ नहीं है और ना ही मुस्लिम समुदाय के खिलाफ हैं। अगर आज अजमेर शरीफ जैसी कोई दरगाह होती पीर पैगम्बर की तो हम खड़े रहते हैं। मंदिरों का अपमना हुआ है और औरजब और बाबर इस्लामिक इतिहास के काला अध्याय हैं। उन्होंने कहा कि मुस्लिम समाज से मेरी हाथ जोड़कर अपील है कि धर्म निरपेक्षता का सबूत दें। ज्योतिर्लिंग था और जब तक दुनिया है तब तक रहेगा।
उन्होंने कहा कि ज्योतिर्लिंग था, ज्योतिर्लिंग था और जितनी देर तक दुनिया रहेगी ज्योतिर्लिंग रहेगा। उन्होंने कहा कि राम मंदिर का फैसला हो गया अब मथुरा और काशी का बाकी है जिसे काफिर बाबर ने तोड़ा था। औरंगजेब जालिम ने तोड़ा था। मीडिया ने बनाया ओवैसी को लीडर हैदराबाद के सांसद असदुद्दीन ओवैसी के औरंगजेब की मजार पर जाकर चादरपोशी करने पर उन्होंने कहा कि ओवैसी ने औरंगजेब की मजार पर जाकर इतिहास के खूनी पन्नों को खोलने का काम किया है। मीडिया ने ही ओवैसी को लीडर बना दिया है।

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Previous post रोहनिया पुलिस व आबकारी टीम की संयुक्त टीम ने एक डीसीएम गाड़ी से 169 पेटी अवैध अंग्रेजी शराब बरामद की।
Next post डायट पर हुई राज्य स्तरीय योग प्रतियोगिताप्रदेशभर से 115 प्रतिभागियों ने भाग लिया।