July 1, 2022

विश्व वैदिक सनातन संघ की महामंत्री किरन सिंह बिसेन की याचिका पर फास्ट ट्रैक कोर्ट में सोमवार को सुनवाई हुई।

Advertisement
Advertisement

वाराणसी/संसद वाणी

विश्व वैदिक सनातन संघ की महामंत्री किरन सिंह बिसेन की याचिका पर फास्ट ट्रैक कोर्ट में सोमवार को सुनवाई हुई। सिविल जज सीनियर डिवीजन फास्ट ट्रैक कोर्ट महेंद्र कुमार पांडेय की अदालत में हुई सुनवाई में मुस्लिम पक्ष अंजुमन इंतेजामिया मसाजिद कमेटी की तरफ से अधिवक्ता अभयनाथ यादव ने अपना वकालतनामा पेश किया और कोर्ट में डाले गए पूर्व के प्रार्थना पत्र के परिपेक्ष्य में वाद के प्लेंट और एफिडेविट की कॉपी की मांग की है ताकि ऑब्जेक्शन किया जा सके जिसपर कोर्ट ने वादी पक्ष को निर्देशित किया है। इसपर शाम 4 बजे ऑर्डर आएगा। इस सम्बन्ध में वादी पक्ष के अधिवक्ता प्रशांत गौड़ ने बताया कि फास्ट ट्रैक कोर्ट में आज जज महेंद्र कुमार पांडेय की अदालत में सुनवाई हुई। इस दौरान हमने अपनी दलीलें पेश की हैं। हमारी दलीलें सुनने के बाद कोर्ट ने ऑर्डर को सुरक्षित किया है जो चार बजे आएगा। वहीँ प्रतिवादी पक्ष अंजुमन इंतेजामिया मसाजिद कमेटी की तरफ से वरिष्ठ अधिवक्ता अभयनाथ यादव ने अपना वकालत नामा कोर्ट में पेश किया। उन्होंने बताया कि हमने कोर्ट में वकालतनामा पेश किया है। इसके अलावा पूर्व दिए गए प्रार्थना पत्र के आधार पर हमने आज फिर कोर्ट से मांग की है कि हमें इस वाद की याचिका और वादी पक्ष की तरफ से दायर किये गए एफिडेविट की कॉपी उपलब्ध कराई जाए ताकि हम अपना ऑब्जेक्शन फ़ाइल कर सकें जिसके बाद कोर्ट ने सुनवाई पूरी कर दी। अभयनाथ यादव ने बताया कि इस मामले में अब 4 बजे कोर्ट ऑर्डर करेगी। बता दें कि विश्व वैदिक सनातन संघ की अंतरराष्ट्रीय महामंत्री किरन सिंह व दो अन्य ने यह याचिका दाखिल की है। इसमें यूपी सरकार, जिलाधिकारी, पुलिस आयुक्त, अंजुमन इंतजामिया मसाजिद कमेटी और विश्वनाथ मंदिर ट्रस्ट को पक्षकार बनाया गया है। याचिका में तीन बिंदुओं पर कोर्ट से मांग की गई है, जिसमें परिसर में मुस्लिम पक्ष का प्रवेश रोकने, ज्ञानवापी परिसर हिंदू पक्ष को सौंपने और वादी गण को ज्ञानवापी में तत्काल प्रभाव से पूजा पाठ राग भोग दर्शन शामिल है।

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Previous post कपसेठी पुलिस ने एक शातिर चोर को किया गिरफ्तार।
Next post निष्पक्ष पत्रकारिता ही जीवन का सत्य मूल होना चाहिये-शशिप्रताप सिंह।