June 30, 2022

दलालों की खोज में आरटीओ कार्यालय पर छापेमारी

Advertisement
Advertisement

आजमगढ़/संसद वाणी

दलालों के चंगुल में बुरी तरह जकड़े आरटीओ और एआरटीओ कार्यालय को उनसे मुक्त कराने के लिए गुरुवार को पुलिस ने दोनों कार्यालयों पर छापेमारी की। हालांकि इस दौरान वहां मौजूद दलाल पुलिस के आने की भनक लगते ही भूमिगत हो गए। पुलिस ने बगैर किसी काम के वहां मौजूद लोगों को खदेड़ दिया। पुलिस की इस औचक कार्रवाई से मौके पर हड़कंप की स्थिति बनी हुई थी। एसपी आवास के समीप आरटीओ एवं एआरटीओ का कार्यालय स्थित है। ये दोनों कार्यालय दलालों को कब्जे में रहता है। बगैर दलालों से संपर्क किए आम आदमी यहां कोई भी काम नहीं करा सकता। दलालों का वर्चस्व इतना है कि यहां अगर कोई अधिकारी, कर्मचारी या सामान्य नागरिक उनका विरोध करते हैं तो वे हमलावर हो जाते हैं। पूर्व में इस तरह की कई घटनाएं हो चुकी हैं। भय के चलते इन दलालों के खिलाफ कोई आवाज नहीं उठाता। गुरुवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के कड़े आदेश के बाद प्रशासन जागा और सिधारी थाने की पुलिस ने दलालों से मुक्त कराने के लिए आरटीओ और एआरटीओ दफ्तर में छापेमारी की। इस दौरान वहां बगैर काम के मौजूद लोगों को बाहर खदेड़ दिया गया। साथ ही ऐसे लोगों को चेतावनी दी गई कि अब बगैर किसी काम के यहां कोई भी मिला तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। आरआई एआरटीओ पवन कुमार सोनकर ने बताया कि मुख्यमंत्री के आदेश पर सिधारी थाने की पुलिस छापेमारी कर दलालों को कार्यालय से खदेड़ा लेकिन यह व्यवस्था कब तक चल पाती है कुछ कह पाना मुश्किल है।

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Previous post कल से परिषदीय स्कूलों में गर्मी की छुट्टी, शिक्षक जारी रहेंगे विभागीय कामकाज
Next post थाना लोहता पुलिस ने थाना रोहनियाँ के गैंगेस्टर एक्ट के मुकदमें वांछित अभियुक्त को किया गिरफ्तार