June 30, 2022

कथा मानव जीवन को संवारने का साधन है: प्रेमभूषण जी महाराज

Advertisement
Advertisement

संवाददाता / दीपक कुमार सिंह

चोलापुर/संसद वाणी

भगवान की कथा दुख को भगाकर सुख का साधन तैयार करती है। नियम पूर्वक भगवान की कथा सुनने वाले लोगों के जीवन से दुख अपने आप भाग जाता है।
यह बात यहाँ नेहिया ग्राम में आयोजित नौ दिवसीय श्रीराम कथा के सातवें दिन व्यासपीठ से पूज्य प्रेमभूषण जी महाराज ने कही।
सरस् श्रीराम कथा गायन के लिए विश्व प्रसिद्ध प्रेममूर्ति पूज्य प्रेमभूषण जी महाराज ने श्री राम कथा गायन के क्रम में अयोध्या कांड की कथा सुनाते हुये कहा कि श्री रामचरित मानस में कई बार इसे प्रमाणित किया गया है कि श्री राम कथा सुनने मात्र से मन का दुख भागता है और मनुष्य का कल्याण होता है। जैसे हनुमान जी जब अशोक वाटिका में माता सीता जी को – राम कथा वर्णन लगा, सुनत ही माता कर दुख भागा। महाराज श्री ने कहा कि भजनों का आनंद मन को सुख देता है लेकिन कथा का निरंतर श्रवण करना जीवन में हमें बार-बार उचित और श्रेष्ठ मार्ग दिखाता है।
महाराज श्री ने कहा कि भगवान श्रीराम ने महर्षि बाल्मीकि आश्रम में यह प्रश्न किया कि है महर्षि आप कोई उचित स्थान बताएं जहां पर हम निवास करें। जो महर्षि बाल्मीकि ने उन्हें कहा – प्रभु ऐसा कौन सा स्थान है जहां आप नहीं हैं।
महाराज जी ने श्रीराम के वन गमन की कथा गाते हुए कई सुमधुर भजनों से श्रोताओं को भावविभोर कर दिया। हजारों की संख्या में उपस्थित रामकथा के प्रेमी भजनों का आनन्द लेते और झूमते नजर आए।
सप्तम दिन की कथा में शीतांशु मिश्र और शोभा मिश्र मुख्य यजमान थे। राजेश मिश्रा ,जितेंद्र मिश्रा,रबिंद्र मिश्रा,मनीष मिश्रा,संजय मिश्रा,सुनीता मिश्रा, व इलाके के अन्य लोगों के विशेष प्रयास से यह भव्य आयोजन किया गया है।

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Previous post शेषधर पांडेय बनाये गए सैयदराजा के थाना प्रभारी साथ ही संतोष सिंह होंगे अब सदर कोतवाली प्रभारी
Next post रोडवेज बस ने बाइक को मारी टक्कर, महिला की मौत, 2 अन्य जख्मी, शव संग ग्रामीणों का चक्का जाम