एसटीएफ व थाना सिगरा की संयुक्त टीम द्वारा 20हजार का इनामी अभियुक्त गिरफ्तार

0
77
Advertisement
Advertisement

वाराणसी/संसद वाणी: पुलिस आयुक्त वाराणसी ए सतीश गणेश द्वारा वांछित अभियुक्तों की गिरफ्तारी हेतु चलाए गए अभियान के क्रम में सहायक पुलिस आयुक्त चेतगंज के पर्यवेक्षण मे एसटीएफ व थाना सिगरा की संयुक्त टीम को मुखबिर द्वारा सूचना मिली कि 20हजार रुपया का इनामी अपराधी आर्य उर्फ आकाश सरोज उर्फ टमाटर उम्र 23वर्ष पुत्र स्वर्गीय चंदन सरोज निवासी मकान संख्या सी 35/222 चंदुआ छित्तूपुर सिगरा वाराणसी रोडवेज बस स्टैंड के बाहर मुख्य मार्ग पर थाना सिगरा से गिरफ्तार किया गया।

गिरफ्तारी के सम्बंध में थाना सिगरा में पुलिस द्वारा विधिक कार्यवाही की जा रही है अभियुक्त ने बताया कि मैं 307 गैंग का सदस्य हु मेरा एक नाम से कई लड़को का सोशल मीडिया पे ग्रुप अकाउंट है जब किसी लड़के से कोई विवाद होता है तो सूचना पाने पर हम लोग समूह के रूप में वहाँ पे पहुंच जाते है।

दिनांक 12/10/22 को शाम 7 बजे से 7.30 के मध्य मंटू सरोज, राहुल सरोज, पुत्रगण अनूप सरोज व बाबू सरोज पुत्र कचालू सरोज जो चंदुआ सटी के पीछे नारिमल पुर थाना सिगरा का रहने वाला है अपने लोगो के साथ बैठ कर शराब पी रहा था शराब पीने के दौरान गाली गलौज होने लगा उसी समय राजकुमार सिंह भवन स्वामी कुछ लोगो के साथ आ के बाबू सरोज से उलझ गया और मारने पीटने लगे तब राहुल, मंटू, बाबू जो हम लोगो ने 307 नाम से गैंग बनाये थे ग्रुप में मैसेज कर दिया और हमारे सभी साथी दिनेश पाल, सूरज यादव अनूप सरोज, मंटू सरोज, अभिषेक सरोज, गणेश सरोज मनीष पांडे, रमेश पाल व अन्य साथी सुरेश सरोज, बाबू, पवन, साहिल गुप्ता, संदीप गुप्ता, विशाल राजभर, विकास राजभर, बाबू सरोज, और राहुल सरोज के साथ लाठी डंडा व ईट पत्थर अपने अपने हाथों में लेकर ठेके के सामने पहुंची और राजकुमार से पूछा कि क्यों गाली और धमकी दी है, जिस पर राजकुमार सिंह हम लोगों पर पुनः गाली गलौज देने लगे जिस पर कहासुनी होने लगी और हम लोगों ने ईट पत्थर व ईट से गाली का बदला गाली से देते हुए जान से मारने की धमकी देते हुए मारने पीटने लगे जिससे वह गिर गए और शोर पर उनके पिता बचाने आए वह भी हम लोगों से उलझने लगे तो उन्हें भी हम लोगों ने ईट से बुरी तरह से मारा पीटा जब तमाम लोग वहाँ पे आने लगे तो हम सभी लोग भाग गए बाद में सुना कि राजकुमार सिंह के पिता पशुपतिनाथ सिंह की ट्रामा सेंटर में मौत हो गई है अपने हाथ में रॉड लिए था जिससे मैंने मारा था और उस रात को मैंने सामने घाट से गंगा जी के बीच में धारा में फेंक दिया।

गिरफ्तार करने वाली टीम प्रभारी निरीक्षक राजू सिंह, उपनिरीक्षक मोहम्मद आरिफ खान, उप नि0आदित्य सिंह, हेड कांस्टेबल कृष्णानंद राय, हेड कांस्टेबल धनंजय सिंह, राम कृपाल सिंह, एसटीएफ यूनिट में उप निरीक्षक प्रदीप कुमार सिंह, हेड कांस्टेबल सुशील सिंह, हेड कांस्टेबल चालक राकेश कुमार मिश्रा कमांडो संजीव कुमार व अन्य लोग रहे।

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here